http://ggsnews24.com नकल कराने में लिप्त पाए जाने वाले जाएंगे जेल- जिलाधिकारी – GGS News24

नकल कराने में लिप्त पाए जाने वाले जाएंगे जेल- जिलाधिकारी

कलेक्ट्रेट के सभागार भवन में जिलाधिकारी ने केन्द्र ब्यवस्थापको, सेक्टर मजिस्ट्रेट व जोनल मजिस्ट्रेट के बैठक में किया अलर्ट

जीजीएस न्यूज़24 जौनपुर ब्यूरो चीफ दीपक कुमार विश्वकर्मा

जौनपुर

18 फरवरी से शुरू हो रही यूपी बोर्ड परीक्षा को नकल विहीन व शांतिपूर्वक सम्पन्न कराने हेतु जिलाधिकारी दिनेश कुमार सिंह ने बुधवार को कलेक्ट्रेट परिसर में केन्द्र ब्यवस्थापको व सभी उपजिलाधिकारियों की बैठक में कड़ा निर्देश दिया। कहा कि बोर्ड परीक्षाओं में नकल कराने में लिप्त पाए जाने वाले लोग जेल जाएंगे। कड़ी चेतावनी के बाद जिला विद्यालय निरीक्षक, जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट सहित जनपद के सभी 238 केंद्र व्यवस्थापकों को अलर्ट किया।

जिलाधिकारी द्वारा ली गई बैठक का पूरा फोकस परीक्षा को नकल विहीन कराने पर रहा। उन्होंने सीसीटीवी और वायस रिकॉर्डर की निगरानी में परीक्षाएं कराने के साथ ही नकल कराने में किसी भी स्तर की संलिंप्तता पर कार्रवाई की चेतावनी दी। उनका स्पष्ट कहना था कि यदि नकल कराने में कोई भी केन्द्र ब्यवस्थापक या अन्य शिक्षक कर्मचारी लिप्त पाया जाता है तो उसे भी जेल जाना होगा। उनका कहना था कि नकल कराने में संलिप्त किसी भी स्तर के व्यक्ति को बख्शा नहीं जाएगा, पकड़े जाने पर भेजा जाएगा।

केंद्र ब्यवस्थापको को आगाह किया कि विद्यालयों पर रखी हुई उत्तर पुस्तिकाओं व प्रश्नपत्रों को सुरक्षित रखना आप की जिम्मेदारी है। कहा कि चौबीस घंटे सीसीटीवी कैमरा चलता रहे। किसी भी समय आप से रिकार्डिंग मांगी जा सकती है। रिकार्डिंग में गड़बड़ी मिली तो सीधा जेल भेज दूंगा। आप के विद्यालय की स्थिति को लखनऊ में बैठे अधिकारी भी देख रहे है। शिकायत मिली तो कड़ी कार्रवाई होगी। उन्होंने कहा कि मुख्यद्वार पर ही परीक्षार्थियों की सघन तलाशी ले। बालिकाओं को महिला शिक्षिका तलाशी करेगी। बालिकाओं की तलाशी खुले कैमरो के सामने नही होना चाहिए उसके लिए मुख्य द्वार के समीप ही कमरे जैसा ब्यवस्था बनाकर रखे। कहा कि परीक्षा के दौरान किसी भी केंद्र पर मोबाइल मिला तो उनको बक्शा नही जाएगा। परीक्षा के दौरान प्रबन्धक और उनके परिवार के किसी भी सदस्य को अंदर नही आना है। उत्तर पुस्तिकाओं को ठीक से मिलान कर ले। बिना कोड की उत्तर पुस्तिकाओं का कत्तई प्रयोग न करे। परीक्षा शुरू होने से 15 मिनट पहले ही प्रश्नपत्रों को खोले। लिफाफा खोलकर ठीक ढंग मिलान कर ले। विद्यालय के शौचालय साफ सुथरा होना चाहिए। बिजली, पानी की ब्यवस्था ठीक हो। सीटिंग प्लान में एक कक्ष में एक ही विद्यालय के बच्चे न हो। अपर पुलिस अधीक्षक शहर ने कहा कि सभी केद्रों पर सुरक्षा की मुक्कमल ब्यवस्था रहेगी। बैठक में एडीएम फाइनेंस सहित सभी जोनल व सेक्टर मजिस्ट्रेट भी मौजूद रहे।

परीक्षा के लिए बनाये गये जिले में 238 केंद्रों पर हाईस्कूल के कुल 98886 व इंटर के 83463 परीक्षार्थी शामिल होंगे। जिलाधिकारी ने जिला विद्यालय निरीक्षक को निर्देश दिया कि 13 फरवरी तक सभी केंद्रों का निरीक्षण हरहाल में कर लें। यदि किसी परीक्षा केंद्र की बाउंड्री टूटी हो तो उसे तत्काल ठीक करा लें। छात्राओं की चेकिग के लिए अलग से केबिन बनाने तथा चेकिग महिला से ही कराने का निर्देश दिया। उन्होंने बताया कि यह परीक्षा 18 फरवरी से शुरू होकर छह मार्च तक चलेगी। प्रथम पाली की परीक्षा सुबह 8.00 से 11.15 बजे तक तथा द्वितीय पाली की परीक्षा 2.00 से शाम 5.15 बजे तक होगी।

*डीआइओएस कार्यालय में होगा कंट्रोल रूम*

जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में कंट्रोल रूम की स्थापना की गई है। इसका फोन नंबर 05452-264041 एवं 9839764024 है। इस नंबर पर किसी भी सूचना के लिए संपर्क किया जा सकता है। इसके अलावा परीक्षा के मद्देनजर दो सुपर जोनल मजिस्ट्रेट एवं छह जोनल मजिस्ट्रेट तथा 38 सेक्टर मजिस्ट्रेट की तैनाती की गई है। परीक्षा के संबंध में एडीएम वित्त एवं राजस्व, डीआइओएस व अपर पुलिस अधीक्षक शहर के मोबाइल फोन नंबरों पर भी संपर्क किया जा सकेगा।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

उत्तर प्रदेश में 2022 में किसकी सरकार होगी ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close