http://ggsnews24.com जिला योजना समिति की बैठक में जनपद प्रभारी मंत्री श्री जय प्रताप सिंह ने जिला योजना वर्ष 2020-21 के लिये 3 अरब 28 करोड़ 63 लाख रूपये का किया अनुमोदन – GGS News24

जिला योजना समिति की बैठक में जनपद प्रभारी मंत्री श्री जय प्रताप सिंह ने जिला योजना वर्ष 2020-21 के लिये 3 अरब 28 करोड़ 63 लाख रूपये का किया अनुमोदन

जीजीएस न्यूज़24 सुल्तानपुर ब्यूरो चीफ सूर्यप्रकाश तिवारी

सुलतानपुर 12 फरवरी/ प्रदेश के मा0 मंत्री, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, परिवार कल्याण तथा मातृ एवं शिशु कल्याण विभाग उ0प्र0 सरकार/जनपद प्रभारी मंत्री श्री जय प्रताप सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आज आयोजित जिला योजना वर्ष 2020-21 के प्रस्तावित परिव्यय पर जिला योजना समिति की बैठक में 3 अरब 28 करोड़ 63 लाख रूपये के परिव्यय को विभिन्न विभागों की योजनाओं/ विकास कार्यक्रमों को संचालित किये जाने हेतु अनुमोदन प्रदान किया गया। उन्होंने उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित किया कि जनपद के विकास के साथ-साथ जन कल्याणकारी कार्यक्रमों से समाज के गरीब/पात्र व्यक्तियों तक पहंुचायें और जो भी कार्य किये जायें उसकी सूचनाा जन प्रतिनिधियों को भी अवश्य दी जाये।
जनपद प्रभारी मंत्री का जनपद में आगमन पर जिलाधिकारी सी0 इन्दुमती द्वारा स्वागत करते हुए बताया कि जिला योजना तैयार किये जाने हेतु शासन द्वारा जनपद का कुल परिव्यय रूपये 3 अरब 28 करोड़ 63 लाख निर्धारित किया गया है, को दृष्टिगत रखते हुए जनपद की जिला विकास योजना तैयार करने के उपरान्त 32863.00 लाख में पुर्नगठित केन्द्र पुरोनिधानित योजनाओं का केन्द्रांश 18823.94 लाख रूपये है तथा कुल प्रस्तावित परिव्यय में 7852.70 लाख रूपये स्पेशल कम्पोनेन्ट प्लान के अन्तर्गत प्रस्तावित किया गया है। उन्होंने बताया कि शासन से प्राप्त गाइड लाइन के अनुसार विभिन्न विभागों की योजनाओं/कार्यक्रमों के संचालन हेतु वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिये प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। जिस पर विचार-विमर्श कर अनुमोदित किया जाना है।
जनपद प्रभारी मंत्री द्वारा वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिये कृषि विभाग को 20 लाख, गन्ना को 9.08 लाख, लघु सीमान्त कृषकों को आर्थिक सहायता 620 लाख, पशु पालन को 334.59 लाख, दुग्ध विकास को 266.78 लाख, सहकारिता को 430 लाख, वन विभाग को 1101.28 लाख, राष्ट्रीय ग्रामीण अजीविका मिशन (एनआरएलएम) को 2891.75 लाख, रोजगार कार्यक्र को 125.01 लाख, पंचायती राज को 2426.80 लाख, निजी लघु सिंचाई को 1830 लाख, राजकीय लघु सिंचाई को 171.41 लाख, अतिरिक्त ऊर्जा स्रोत को 31.95 लाख, खादी ग्रामोद्योग को 20 लाख, पर्यावरण को 5 लाख, प्राथमिक शिक्षा को 883.20 लाख, माध्यमिक शिक्षा को 1493.14 लाख, प्राविधिक शिक्षा को 689.38 लाख, प्रादेशिक विकास दल को 42.46 लाख, एलोपैथिक को 791.58 लाख, होमियोपैथिक को 132 लाख, आयुर्वेदिक को 210.26 लाख, युनानी को 28.96 लाख, ग्रामीण पेयजल को 485.17 लाख, ग्रामीण स्वच्छता को 1774.80 लाख, पूल्ड आवास को 50 लाख, ग्रामीण आवास को 3418.08 लाख, नगर विकास को 245.36 लाख, अनुसूचित जाति कल्याण कार्यक्रम हेतु 285 लाख, पिछड़ी जाति कार्यक्रम 179.88 लाख, अल्पसंख्यक कल्याण को 21.64 लाख, समाज कल्याण- सामान्य जाति को 171.25 लाख, शिल्पकार प्रशिक्षण को 605 लाख, समाज कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत वृद्धा/किसान एवं राष्ट्रीय पारिवारिक लाभ योजना हेतु 322 लाख, दिव्यांगजन सशक्तीकरण कार्यक्रम हेतु 120 लाख, महिला कल्याण के लिये 100 लाख तथा सड़क एवं पुल हेतु 10373.19 लाख का प्रस्ताव जिला योजना समिति की बैठक में सम्बन्धित अधिकारियों से गहन समीक्षा करने के पश्चात मा0 जनपद प्रभारी मंत्री द्वारा अनुमोदित किया गया।
जिला योजना समिति की बैठक में मा0 जन प्रतिनिधियों व जिला योजना समिति के सदस्यों द्वारा क्षेत्रीय समस्याओं आदि के बारे में जनपद प्रभारी मंत्री को अवगत कराया। प्रभारी मंत्री द्वारा समस्त अधिकारियों को निर्देशित किया गया कि अपने-अपने विभाग की योजनाओं/कार्यों के बारे में जन प्रतिनिधियों को भी अवगत करायें, ताकि वह भी उस कार्यक्रम में प्रतिभाग कर सकें। उन्होंने उपस्थित जन प्रतिनिधियों, समिति के सदस्यों व अधिकारियों से भी अपेक्षा की कि मुख्यमंत्री जन आरोग्य मेला प्रत्येक रविवार को सभी प्राथमिक/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर आयोजित किये जा रहे हैं। उसका अपने-अपने क्षेत्र में व्यापक प्रचार-प्रसार करायें। इसमें सभी का सहयोग अपेक्षित है। उन्हांेने कहा कि 30 वर्ष के ऊपर सभी की जाॅच होगी, ताकि अगली पीढ़ी स्वस्थ्य रहे। उन्होंने आयुष्मान/गोल्डन कार्ड के बारे में प्रकाश डालते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देशित किया कि इसका व्यापक प्रचार-प्रसार जनपद में कराया जाये। बैठक में प्रभारी मंत्री द्वारा जिला पंचायत सदस्य धर्मेन्द्र सिंह को गोशालाओं के संरक्षण हेतु जनपद का ब्राण्ड अम्बेस्डर बनाया गया।
बैठक का संचालन जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी पन्नालाल ने करते हुए बताया कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में विभिन्न विभागों को जिला योजना के अन्तर्गत कुल 3 अरब 1 करोड़ 24 लाख की धनराशि का परिव्यय आवंटित किया गया था। अब तक जनपद को कुल 10159.61 लाख रूपये की धनराशि अवमुक्त हुई है, जिसके सापेक्ष 159.61 लाख रूपये व्यय हुआ है, जो अवमुक्त धनराशि के सापेक्ष शत-प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2020-21 में जिला योजनान्तर्गत शासन द्वारा जनपद का कुल परिव्यय 32863 लाख निर्धारित किया गया है, जिसके अनुसार विभिन्न विभागों की विकास योजनाओं के प्रस्ताव प्राप्त हुए हैं। बैठक के अन्त में जिलाधिकारी द्वारा प्रभारी मंत्री सहित सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित कर बैठक की कार्यवाही समाप्ति की गयी। उन्होंने जनपद प्रभारी मंत्री को आश्वस्त किया कि बैठक में दिये गये निर्देशों के अनुरूप सभी अधिकारी अपने-अपने कार्यों को सफलतापूर्ण सम्पादित करेंगे।
इस अवसर पर विधायक सुलतानपुर सूर्यभान सिंह, विधायक कादीपुर राजेश गौतम, विधायक सदर सीताराम वर्मा, सांसद प्रतिनिधि रंजीत सिंह, जिला योजना समिति के सदस्यगण, पुलिस अधीक्षक शिव हरी मीणा, मुख्य विकास अधिकारी रमेश प्रसाद मिश्र, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ0 सीबीएन त्रिपाठी, डीएफओ आनन्देश्वर प्रसाद, जिला विकास अधिकारी डाॅ0 डी0 आर0 विश्वकर्मा, परियोजना निदेशक(डी0आर0डी0ए0) एस0के0 द्विवेदी सहित सम्बन्धित विभागों के जिला स्तरीय अधिकारीगण उपस्थित रहे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

उत्तर प्रदेश में 2022 में किसकी सरकार होगी ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close