http://ggsnews24.com लेखिका सुशीला रोहिला जी ने सात साल तीन महीने चार दिन की कहानी को किया प्रकाशित – GGS News24

लेखिका सुशीला रोहिला जी ने सात साल तीन महीने चार दिन की कहानी को किया प्रकाशित

जीजीएस न्यूज़ 24 जौनपुर थाना महराजगंज ब्युरो कुलदीप विश्वकर्मा

लेखिका सुशीला रोहिला जी ने कुछ लाईनो का संछिप्त वर्णन किया जिसमें
रचना निर्भया लेखिका सुशीला रोहिला जी ने लिखा कि , सात साल तीन महीने चार दिन की कहानी
एक माँ के संघर्षों के तप की कहानी ,
कुछ वर्षों पहले माँ की कोख से जन्मी एक ज्योति
दिन -दिन पर दिन बीते खिली एक कोमल कली
पढ-लिखकर विद्वान बनीं गुणशील, गुणवान रही
किशोर होकर माता -पिता की वह निर्भया रही ,
माता -पिता की छवि बन जग में सपने संजोने लगी।
सहसा एक दिन उसके जीवन में घोर अंधेरा छाया
हवस के चार दरिदों ने हैवानियत का खेल रचाया
बेबस, लाचार कर अपनी हवस का शिकार बनाया,
शर्मशार मानवता हुई ,दानवता ने नंगा नाच दिखाया,
खुनी दरिदों ने बेटी निर्भया को मौत के घाट उतारा
माँ की कोख उजड़ी,पिता का वंश थी निर्भया,
आँसुओं के सलाब ने दानवता को हिलाया,
कानुन क्यों मजबूर हुआ उन गुनाहगारों की खातिर
माँ के संघर्षों ने आखिर सच्चाई का कमल खिला दिया ,
ज्योति बन चमकती बेटी निर्भया बनी नयी पहचान , दानवता पर मानवता ने अपना पूष्प खिला ही दिया ।
आदि अपनी कलाओं के माध्यम से प्रस्तुतियां इस कविता में प्रकट की ।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

क्या कोविड 19 का जिम्मेदार चीन है?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close